:
new

NEW NCERT ऑनलाइन कोर्स इंटरमीडिएट पासआउट अभ्यर्थियों के लिए विशेष |  बैच आरम्भ: 21 अप्रैल 2024

new
वैकल्पिक विषय: राजनीति विज्ञान और अंतर्राष्ट्रीय संबंध (PSIR) की कक्षाएं हिन्दी और English में 7 अगस्त 2023 से शुरू होने जा रहा है। Call: +919821982104 Optional subject : Political Science and International Relations (under the guidance of Aditya Sir) is going to start from 7th August 2023. Call: +919821982104
new
वैकल्पिक विषय: राजनीति विज्ञान और अंतर्राष्ट्रीय संबंध (PSIR) की कक्षाएं हिन्दी और English में 7 अगस्त 2023 से शुरू होने जा रहा है। Call: +919821982104 Optional subject : Political Science and International Relations (under the guidance of Aditya Sir) is going to start from 7th August 2023. Call: +919821982104

जोरावर लाइट टैंक का विकास

प्रसंग : इस वर्ष के अंत तक चीन के साथ लगने वाली ऊँची पहाड़ी सीमा में लाइट टैंक ‘जोरावर’ के परीक्षण की सम्भावना है।

जोरावर टैंक के बारे में

  • यह स्वदेशी रूप से डिजाइन और विकसित लाइट टैंक है।
  • इसे रक्षा अनुसंधान एवं विकास संगठन (DRDO) और निजी कम्पनी लार्सन एंड टूर्बो लिमिटेड (L&T) के सहयोग से विकसित किया जा रहा है।
  • इस टैंक का नामकरण प्रसिद्ध डोगरा सेनापति जनरल जोरावर सिंह के नाम पर किया गया है।

विशेषताएँ

  • इसे उच्च ऊँचाई वाले क्षेत्रों और सीमांत इलाकों से लेकर द्वीपीय क्षेत्रों तक, अलग–अलग इलाकों में काम करने के लिए डिजाइन किया गया है।
  • किसी भी परिचालन स्थिति को पूरा करने के लिए तेजी से तैनाती के लिए यह अत्यधिक परिवहनीय होगा।
  • यह सभी आधुनिक तकनीकों जैसे आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस, ड्रोन इंटीग्रेशन, उच्च स्तर की स्थितिजन्य जागरूकता और उभयचर संचालन क्षमता से लैस होगा।
  • यह उच्च शक्ति–भार अनुपात के अलावे बेहतर मारक क्षमता और सुरक्षा के साथ 25 टन से कम वजन का होगा।

जनरल जोरावर सिंह

  • जोरावर सिंह 19वीं शताब्दी में किश्तवाड़ के शासक राजा गुलाब सिंह के सेनापति थे।
  • उन्होंने चीन, तिब्बत, अफगानिस्तान और पाकिस्तान के हिस्सों को विजित किया था।
  • उन्हें ‘पूरब का नेपोलियन’ भी कहा जाता है।
  • भारत सरकार ने जनरल जोरावर सिंह की स्मृति में एक स्मारक डाक–टिकट भी जारी किया है।
Share:
Share
Share
Scroll to Top